Wednesday, July 14, 2010

बम्माच कहीं के - मेरी नक़ल उतारते हो

5 comments:

संजय भास्कर said...

बेहद ख़ूबसूरत और उम्दा

Sandeep Singh said...

वाह सुमित भाई...तबियत खुश कर दी। ये फोटो तो लंबी दूरी तय कर सकती है। कहां की है?

बबिता अस्थाना said...

काश कि हम बड़े न होते...इसे देखकर तो यही ख़्वाहिश जाग रही है....
बेहतरीन फोटो है....

Jinsen Karedath said...

Really nice.

jr... said...

I love this...